A- A A+
Last Updated : Jan 18 2021 10:21PM     Screen Reader Access
News Highlights
PM Modi lays foundation stone of Ahmedabad Metro Rail Project Phase-II and Surat Metro Rail Project            Govt. releases 12th weekly installment of Rs 6,000 crore to States and UTs to meet GST compensation shortfall            India and Japan sign MoC to promote movement of skilled workers from India to Japan            Stranded ship MV Jag Anand with 23 Indian crew members from China reaches Japan; First batch of crew to fly back tonight            India needs 324 more runs on concluding day to win Brisbane test and series           

Text Bulletins Details


समाचार संध्या

2000 HRS
03.12.2020

मुख्य समाचार:-

  • सरकार और किसानों के बीच नई दिल्‍ली में चौथेदौर की बातचीत समाप्‍त। अगले दौर की बातचीत शनिवार को होगी।

  • सरकार ने कहा--वास्‍तविक नियंत्रण रेखा केपास सेना को पूर्ण रूप से पीछे हटाने को सुनिश्चित करने के लिए भारत और चीन के बीचबातचीत जारी रखेंगे।

  • कोविड से स्‍वस्‍थ होने की दर 94 दशमलव एक-एक प्रतिशत हुई।

  • चक्रवाती तूफान बुरेवि के आज रात तमिलनाडु केपामबन और कन्‍याकुमारी तट पार करने की संभावना।

  • जम्‍मू कश्‍मीर में कल जिला विकास परिषद और पंचायतउपचुनाव के तीसरे दौर के मतदान के लिए सभी तैयारियां पूरी।

  • भारत और ऑस्‍ट्रेलिया के बीच पहला टी-ट्वेंटी क्रिकेटमैच कल कैनबरा में।

-----

कोविड-19 महामारीके खिलाफ देश एकजुट होकर लड़ रहा है। आप भी हमारे साथ सुरक्षा और बचाव के तीन आसानएहतियाती उपायों का संकल्‍प लें।

मास्‍क पहने

दो गज दूरी, है जरूरी-सुरक्षितदूरी बनाए रखें

हाथ और मुंह साफ रखें।

-----

सरकार और किसानों केप्रतिनिधियों के साथ चौथे दौर की वार्ता खत्‍म हो गई है। बैठक लगभग सात घंटे चली। कृषिमंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और वाणिज्‍य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने बैठक में सरकारका प्रतिनिधित्‍व किया। बैठक के बाद कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने आश्‍वासन दियाकि सरकार किसानों के सभी मुददों और शंकाओं पर चर्चा के लिए तैयार है। श्री तोमर नेकहा कि बैठक बहुत ही सकारात्‍मक माहौल में हुई।


बहुत ही सौहार्द वातावरण मेंचर्चा हुई। यूनियंस के लोगों ने अपना पक्ष रखा और सरकार ने भी अपना पक्ष रखा। 2-3 दौर की चर्चाऔर आज की चर्चा में सामान्‍य तौर पर कुछ बिन्‍दु निकाले गए हैं जिन पर किसान यूनियनकी चिंता मुख्‍य रूप से है। हम लोग प्रारंभ से यह बात कह रहे थे कि भारत सरकार किसानोंके हितों के प्रति पूरी तरह प्रतिबद्ध है। भारत सरकार इस बात पर विचार करेगी कि एपीएमसीसशक्‍त हों और एपीएमसी का उपयोग और बढ़े जहां तक नए एक्‍ट का सवाल है उसमें एपीएमसीपरिधि के बाहर प्राइवेट मंडियों का प्रावधान है तो प्राइवेट मंडियां आएंगी लेकिन प्राइवेटमंडी और जो एपीएमसी एक्‍ट के अंतर्गत बनी हुई मंडियां हैं उन दोनों में कर की समानताहो।

 

श्री तोमर ने कहा किबातचीत का अगला दौर शनिवार को होगा। कृषि मंत्री ने किसानों से अपना आंदोलन समाप्‍तकरने की अपील की। उन्‍होंने कहा कि न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य समाप्‍त नहीं किया जायेगा।


और एक बात और चलाई जा रही हैकि नए कानून की वजह से छोटे किसान की जो जमीन है उसको बड़े लोग हथिया लेंगे। वैसे तोएक्‍ट के जो प्रावधान है उसमें किसान को पूरी तरह सुरक्षा प्रदान की गई है। कोई भीकिसान की जमीन की लिखा पढ़ी नहीं कर सकता है इस बात का प्रावधान एक्‍ट में ही है। लेकिनफिर भी लोगों की शंका है तो शंका का निवारण करने के लिए सरकार तैयार है एमएसपी के मामलेमें लोग शंका की दृष्टि से देखते हैं लेकिन फिर भी यह कहना चाहता हूं एमएसपी चल रहीथी,एमएसपी चल रही है, आने वाले कल में भी चलती रहेगी।

 

बैठक में 32 किसान संघों के 40 प्रतिनिधियों ने भाग लिया। सरकार और किसान नेताओं के बीच मंगलवार को तीसरेदौर की बातचीत बेनतीजा रही थी।

-----

नरेंद्र मोदी सरकार ने देश में कृषि क्षेत्रमें परिवर्तन लाने और किसानों की आय दोगुना करने के लिए कई कदम उठाए हैं। सरकार नेइस दिशा में कृषि से संबंधित तीन नए कानून लागू किए हैं। ब्यौरा हमारे संवाददाता से-  


किसान उपज, व्यापार औरवाणिज्य (संवर्धन और सुविधा) अधिनियम,2020 का मुख्‍य उद्देश्‍य उन बिचौलियों को समाप्‍त करना है जिन्‍होंनेकिसानों के अधिकांश उत्‍पादक आय को कम किया है। इस ऐतिहासिक कानून की वजह से कृषि मंडियोंमें फलने-फूलने वाले ऐसे बिचौलियों पर सरकार ने गहरा आघात पहुंचायाहै। कृषि और किसान की आय से सीधे-सीधे संबंध रखने वाले संसद द्वारापारित तीन पथप्रदर्शक कानूनों की वजह से देश में किसान पहली बार अपनी उपज को बेहतरकीमत पर बेचने की स्‍वतंत्रता पा चुका है। किसान अब अपने कृषि उत्‍पाद के संबंध मेंखेती के पहले भी करार करने के लिए मुक्‍त है। वहीं दूसरी ओर फसल कटने के बाद अब वहअनाज सीधे-सीधे फैक्‍ट्री, गोदाम या कोलस्‍टोरेज में भी बेच सकता है। समयानुकूल जरूरतों के अनुरूप इन कानूनों के प्रावधानके अंतर्गत किसान अब अपनी उपज ऑन लाइन व्‍यापार के माध्‍यम से भी देश के किसी कोनेमें बेच सकता है। इन सब के अलावा नये विधान कृषि उत्‍पाद संबंधित न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍यकी मौजूदा व्‍यवस्‍था और कृषि मंडियों की मौजूदा प्रणाली को किसी भी तरह से संशोधितकिये बगैर किसानों को नई व्‍यवस्‍था चुनने का विशेष अधिकार देते हैं। ए.पी.एम.सी. कानून तथा कृषि विपणन सीमितयां राज्‍य सरकारों द्वारा ही नियंत्रित की जातीरहेंगी। नये कृषि कानून किसानों को अपनी उपज बेचने के स्‍वतंत्र और सुगम विकल्‍प प्रदानकरते हैं और इन सारी साझताओं के अतिरिक्‍त यह किसानों के हितों को सुरक्षित करने केलिए और किसी भी विवाद के सुलभ और त्‍वरित निपटारे के लिए उपसंभागीय स्‍तर पर व्‍यवस्‍थासुनिश्चित करते हैं। आकाशवाणी समाचार के लिए आनंद चतुर्वेदी दिल्‍ली।         

-----

भारत और चीन के बीच पश्चिमी सेक्‍टर में वास्‍तविकनियंत्रण रेखा पर संभावित टकराव वाले सभी संवेदनशील क्षेत्रों में शांति और सौहार्दबनाये रखने के लिए सैनिकों को पूरी तरह से पीछे हटाने के लिए राजनयिक और सैन्‍य स्‍तरपर बातचीत जारी है।

 

विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता अनुराग श्रीवास्‍तवने मीडिया को बताया कि दोनों देश उचित समय पर शीर्ष कंमाडर स्‍तर की दूसरे दौर की वार्तापर सहमत हो गये हैं। उन्‍होंने कहा कि बातचीत का मुख्‍य मुद्दा यह है कि दोनों पक्षवास्‍तविक नियंत्रण रेखा पर शांति बनाये रखने के लिए 1993 और 1996में हुए समझौतों सहित सभी द्विपक्षीय समझौतों पर कड़ाई से अमल करें।उन्‍होंने कहा कि इसके लिए जरूरी है कि सीमा पर सैनिकों का जमावड़ा न किया जाए और दोनोंपक्ष वास्‍तविक नियंत्रण रेखा की वर्तमान स्थिति का सम्‍मान करें तथा कोई भी एकतफाकार्रवाई न करें।

-----

भारत ने ब्रह्मपुत्र नदी पर चीन द्वारा बनाएजाने वाले बांध को लेकर अपना पक्ष और चिंताएं व्‍यक्‍त की हैं। भारत को अपने क्षेत्रमें नदी के जल के प्रयोग का नैतिक अधिकार है। भारत ने चीन के अधिकारियों से यह सुनिश्चितकरने को कहा है कि नदी के ऊपरी क्षेत्र में की जाने वाली गतिविधियों से नीचे के क्षेत्रवाले राज्यों के हित प्रभावित न हों। मीडिया के एक सवाल के जवाब में विदेश मंत्रालयके प्रवक्‍ता अनुराग श्रीवास्‍तव ने कहा कि सरकार ब्रह्मपुत्र नदी पर हो रही सभी गतिविधियोंपर निगाह बनाए हुए है। अनुराग श्रीवास्‍तव ने कहा कि चीन ने  कई बार यह स्‍पष्‍ट किया है कि उसके द्वारा चलायीजा रही पनबिजली परियोजनाओं से ब्रह्मपुत्र नदी के जल के प्रवाह पर कोई असर नहीं पडेगा।  

-----

नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह ने कहा हैकि नौसेना कोविड-19और वास्‍तविक नियंत्रण रेखा में परिवर्तन लाने के चीन के प्रयास जैसीचुनौतियों का मुकाबला करने के लिए तैयार है। आज उन्‍होंने कहा कि नौसेना, थलसेना और वायुसेना के साथ तालमेल बनाकर अपनी गतिविधि चला रही है। उन्‍होंनेबताया कि चीन के तीन जंगी जहाज हिंद महासागर क्षेत्र में हैं। जिनके बारे में कहा जारहा है कि वे समुद्री डकैती पर निगाह रखने के लिए 2008 से वहांगश्‍त पर हैं। एडमिरल सिंह ने दृढ़तापूर्वक कहा कि चीनी जहाजों द्वारा किसी भी अतिक्रमणसे निपटने के लिए नौसेना के पास मानक संचालन प्रक्रिया तैयार है। नौसेना प्रमुख नेकहा कि दो ड्रोन निगरानी में मदद कर रहे हैं। एडमिरल सिंह ने बताया कि सेना और वायुसेनाकी जरूरत के अनुसार विभिन्‍न स्‍थानों पर पी-8-आई विमान तैनातकिए गए हैं। यह विमान उत्‍तरी सीमा पर तैनात हेरॉन निगरानी ड्रोन के अलावा हैं।

-----

भारत और अमरीका ने बौद्धिक संपदा अधिकार के क्षेत्रमें परस्‍पर सहयोग के लिए एक समझौता ज्ञापन पर हस्‍ताक्षर किए हैं। इस पर वाणिज्‍यऔर उद्योग मंत्रालय के आंतरिक व्‍यापार और उद्योग संवर्धन परिषद तथा अमरीका के वाणिज्‍यविभाग के पेटेंट और ट्रेड मार्क कार्यालय की ओर से हस्‍ताक्षर किए गये।

 

केन्‍द्रीय मंत्रिमंडल ने इस वर्ष 19 फरवरी कोहुई बैठक में इसकी मंजूरी दी थी। इस समझौते से बौद्धिक संपदा अधिकार के क्षेत्र मेंदोनों देशों के बीच उद्योगों, विश्‍वविद्यालयों, अनुसंधान तथा संस्‍थाओं के स्‍तर पर अनुभवों और बेहतरीन तौर-तरीकों तथा ज्ञान को साझा करने में मदद मिलेगी।

-----

वंदे भारत मिशन का आठवां चरण पहली नवंबर से शुरूहो चुका है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता अनुराग श्रीवास्‍तव ने आज कहा कि इस चरण कोअब 31 दिसंबर तक बढा दिया गया है। इस चरण के बढे हुए समय में 15 देशों से 897 अंतर्राष्‍ट्रीय उडानों का संचालन कियाजाएगा। इसके माध्‍यम से लगभग डेढ लाख लोगों को स्‍वदेश लाया जाएगा।

 

अनुराग श्रीवास्‍तव ने कहा कि अतिरिक्‍त 18 देशों केसाथ एयर बबल समझौतों के तहत उडानों का सामान्‍य रूप से संचालन हो रहा है।

-----

देश ने कोविड की रोकथाम की दिशा में महत्वपूर्णउप‍लब्धि हासिल की है। देश में कल लगातार 26वें दिन संक्रमितों के नये मामलों कीसंख्या 50 हजार से कम रही। पिछले 24 घंटोंके दौरान 35 हजार पांच सौ नए मरीजों की पुष्टि हुई है,जबकि इस दौरान लगभग 41 हजार रोगी स्वस्थ हुए हैं।अब तक 90 लाख के करीब लोग स्वस्थ हो चुके हैं, जिससे स्वस्थ होने की दर 94 दशमलव एक-एक प्रतिशत तक पहुंच गई है। स्वस्थ होने वालों की संख्या संक्रमित लोगों से20 गुना अधिक है।

 

देश में संक्रमित लोगों की संख्या में कमी आईहै। देश में अभी कुल चार लाख 22 हजार 943 लोग संक्रमित हैं।स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि 78 प्रतिशत से अधिक संक्रमितमामले दस राज्यों -दिल्ली, महाराष्ट्र,केरल, पश्चिम बंगाल, हरियाणाऔर राजस्थान तक सीमित हैं। मंत्रालय ने यह भी कहा है कि देश में मूलभूत सुविधाओं मेंबढ़ोतरी और केंद्र तथा राज्यों के डाक्टरों, स्‍वास्‍थ्‍य कर्मियोंऔर अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ताओं के समर्पण भाव से काम करने के कारण स्वस्थ होने कीदर में बढ़ोतरी हुई है।

 

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि मृत्यु दर मेंभी कमी आई है और यह केवल एक दशमलव चार-पांच प्रतिशत रह गई है। देश में पिछले24 घंटों के दौरान इस संक्रमण से 526 लोगोकी मौत की पुष्टि हुई है।

-----

देश में पिछले 24 घंटे के दौरान11 लाख 12 हजार कोविड जांच की गई। इसकेसाथ ही जांच की संख्या 14 करोड़ 35 लाख58 हजार हो गई है। सरकार और भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषदके प्रयास से देश में कोविड जांच की क्षमता प्रतिदिन 15 लाख केआसपास पहुंच गई है।

 

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि अधिक संख्‍यामें जांच के कारण रोगियों की जल्दी पहचान, शीघ्र कोरंटाइन और प्रभावी उपचार कियाजाता है। मंत्रालय ने यह भी कहा है कि इससे मृत्यु दर में कमी आई है। अब यह चार प्रतिशतसे नीचे रह गई है। भारत, विश्व स्वास्थ्य संगठन के मानक से पांचगुना अधिक जांच कर रहा है। देश में अभी दो हजार एक सौ 88 प्रयोगशालाएंहैं, जिनमें एक हजार 187 सरकारी और एक हजारएक निजी क्षेत्रों में हैं।

-----

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने इस वर्ष 29 जनवरी कोपहली बार मंत्रिमंडल की बैठक में कोविड का उल्‍लेख करते हुए इस महामारी को गंभीरतासे लेने की बात कही थी। तब उन्‍होंने कहा था कि इससे निपटने के प्रयास पूरी तरह सेविज्ञान आधारित होने चाहिए। उस समय देश में कोविड का एक भी मरीज सामने नहीं आया था।प्रधानमंत्री मार्च 2020 के बाद से लगातार कोविड से निपटने केउपायों की व्‍यक्तिगत रूप से निगरानी कर रहे हैं। एक रिपोर्ट-

-----

कोविड से लडाई में ऐतिहासिक कदम के रूप में ब्रिटेनफाइजर-बायोएनटेक की कोविड वैक्‍सीन को स्‍वीकृति देने वाला दुनिया का पहला देश होगया है। ब्रिटेन के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री मैट हेनिकॉक ने बताया कि सरकार ने औषधि औरस्‍वास्‍थ्‍य सेवा उत्‍पादों का विनियमन करने वाली देश की संस्‍था की सिफारिश पर फाइजर-बायोएनटेक की कोविड वैक्‍सीन के उपयोग को स्‍वीकृति दे दी है। उन्‍होंने बतायाकि यह वैक्‍सीन अगले सप्‍ताह से पूरे ब्रिटेन में उपलब्‍ध होगी।

-----

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञानसंस्थान एम्‍स नई दिल्ली के आंख नाक गला रोग के विभागाध्यक्ष डॉक्टर आलोक ठक्करने कहा है कि कोविड संक्रमण की रोकथाम के लिए किसी को सुरक्षा हटाने का कोई कारण नहींहै। डॉक्टर ठक्कर ने आकाशवाणी से विशेष बातचीत में कहा कि सही ढंग से मास्क पहनने, दो गज की दूरीबनाए ऱखने और निरंतर हाथ धोने से व्यक्ति खुद सुरक्षित रहेगा और दूसरों को भी सुरक्षितरखेगा।


कोरोना के साथ छह-आठ महीने निकलचुके है। अब ये तो बात हम सबको समझ आ गई कि हमेशा ये बहुत खतरनाक बीमारी नहीं होती,कई बार तो ज्‍यादा लक्षण होते ही नहीं हैं। फिर भी बीमारी जो है हो केनिकल भी जाती है। पर ये लापरवाही की बात नहीं है। चार से छह जरूर होते हैं सौ में सेजिनमें कि बहुत सीवियर बीमारी हो जाती है। पता ही है आप सबको कि एक-दो में मृत्‍यु भी हो जाती है, तो इसलिए सावधानी कम करनेकी कोई बात नहीं बनती। सावधानी ये समझ के चलें कि अगर कम से कम अपने लिए नहीं कर रहेहैं तो बाकियों के लिए कर रहे हैं। जब आप मास्‍क लगाते हैं तो ये तो जरूर रहता है किकिसी और से आपको इंफैक्‍शन नहीं होगा। पर ये भी होता है कि कहीं न कहीं अगर आप मेंअभी ए-सिम्‍प्‍टोमैटिक वाला कोरोना है तो आप किसी और को न दें।जैसे समझ लीजिये कि जैसे कि जब आप गाड़ी चलाने निकलते हैं, साइकिलचलाने निकलते हैं तो सड़क के बायें तरफ रहते हैं। इसलिए कि किसी और के लिए आप रिस्‍कन बन जायें। इसलिए हमेशा मास्‍क लगाना बड़ा जरूरी है। अपने प्रोटैक्‍शन के लिए भी औरदूसरों के प्रोटैक्‍शन के लिए। थोड़ा रिसपोन्सिबल नागरिक बनना जरूरी है।       

-----

वाणिज्‍य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल और आयुषमंत्री श्रीपद नाइक आयुष मंत्रालय द्वारा मौजूदा परिप्रेक्ष्‍य में उद्योग और वाणिज्‍यके क्षेत्र में किए जा रहे विभिन्‍न प्रयासों की कल समीक्षा करेंगे। कोविड महामारीको देखते हुए आयुष आधारित औषधियों को लेकर दुनिया में रूचि बढी है। इसे देखते हुए इसबैठक का और भी महत्‍व है। इस तरह की पिछली संयुक्‍त बैठक 9 अप्रैल कोआयोजित की गई थी। तब से आयुष मंत्रालय ने लोगों को कोविड-19 सेबचाने के लिए बहुत से उपाय किए हैं। इनमें समय-समय पर जारी सलाह,कोविड संक्रमण के बाद की देखभाल तथा आयुर्वेद और योग के माध्‍यम से संक्रमणसे बचाव के परामर्श शामिल हैं।

-----

देश में जीएसटी के लागू होने से राजस्‍व मेंनुकसान की भरपाई के लिए विकल्‍प-1 को स्‍वीकार करने पर छत्‍तीसगढ़ सरकार सहमत होगई है। इसके साथ ही विकल्‍प-1 के पक्ष में आने वाले राज्‍योंकी संख्‍या 27 हो गई है। झारखंड और विधानसभा वाले तीन केन्‍द्रशासितप्रदेशों को छोडकर सभी राज्‍य विकल्‍प-1 के पक्ष में सहमत हैं।

 

विकल्‍प-1 को चुनने वाले राज्‍यों और केन्‍द्रशासितप्रदेशों को जीएसटी के लागू होने से हुए नुकसान की भरपाई केन्‍द्र सरकार द्वारा बनाएगए विशेष ऋण विन्‍डो से की जा रही है। ये विन्‍डो इस वर्ष 23 अक्‍तूबर से काम कर रहा है।

 

केन्‍द्र सरकार ने इन राज्‍यों की ओर से पांचकिस्‍तों में तीस हजार करोड़ रुपये का ऋण प्राप्‍त कर लिया है। ये राशि विकल्‍प-1 चुनने वालेराज्‍यों और केन्‍द्रशासित प्रदेशों को दी गई है। चालू वित्‍त वर्ष 2020-21में वस्‍तु और सेवा कर संग्रह में गिरावट की भरपाई के लिए केन्‍द्र सरकारने राज्‍यों के सामने दो विकल्‍प रखा था।

 

विकल्‍प-1 की शर्तों के अंतर्गत राज्‍यों कोउनके सकल घरेलू उत्‍पाद-जीडीपी केशून्‍य दशमलव पांच प्रतिशत के बराबर अतिरिक्‍त कर्ज उपलब्‍ध कराया जाएगा। यह राज्‍योंके सकल घरेलू उत्‍पाद के दो प्रतिशत कर्ज लेने की अनुमति मिलने के अतिरिक्‍त होगा।

-----

चक्रवाती तूफान 'बुरेवि' कमजोर पड गया है। उसके  आज रातदक्षिण तमिलनाडु के पम्‍मबन और कन्‍याकुमारी तट पर पहुंचने की संभावना है। मौसम विभागके अनुसार कल तडके यह तट को पार कर जाएगा।

 

इससे पहले, कल रात यह श्रीलंका में त्रिंकोमालीतट के पास टकराया था। मौसम विभाग के बुलेटिन के अनुसार यह तूफान पिछले छह घंटे में16 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उत्‍तर-पश्चिम की ओर बढ़ रहा था। बुरेवि रामेश्‍वरम के पास पम्‍मबन के बहुतनजदीक केन्द्रित होगा। तूफान के प्रभाव से तमिलनाडु के दक्षिणी जिलों में आज कई स्‍थानोंपर तेज से बहुत तेज वर्षा होने का अनुमान है। दूर-दराज के स्‍थानोंपर मूसलाधार वर्षा की भी संभावना है। मौसम विभाग ने बताया है कि तूफान 70-80किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार पकड़ लेगा। तट से टकराने से पहले इसकीरफ्तार 90 किलोमीटर प्रति घंटा हो जाएगी। इसके प्रभाव से समुद्रमें मछली पकड़ने से जुडी सभी प्रकार की गतिविधियों को रोक दिया गया है। चक्रवाती तूफानके असर से दक्षिणी तमिलनाडु के कई स्‍थानों में कल रात से रूक-रूक कर बारिश हुई, जबकि राजधानी चेन्‍नई सहित अनेक स्‍थानोंपर हल्‍की से मध्‍यम वर्षा हुई है। एक रिपोर्ट -


राज्‍य सरकार ने कहा है कितूफान बुरेवि से निपटने और इससे होने वाले संभावित नुकसान को कम करने के सभी प्रयासकिए जा रहे हैं। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार तूफान के जोर पकडने की संभावना नहीं हैइससे प्रशासन को तैयारी करने का अधिक समय मिल गया है। चक्रवात के कारण चेन्‍नई और इसकेआसपास के क्षेत्रों में वर्षा हो रही है जिसके परिणामस्‍वरूप चेम्‍बरामबक्‍कम झील मेंजलस्‍तर अधिक हो गया है जिससे हजारों क्‍यूसेक पानी अड्यार नदी में जा रहा है। ये झीलचेन्‍नई शहर की जरूरतों को पूरा करने का सबसे बडा जलस्रोत है। राज्‍य के दक्षिणी जिलोंके 432स्‍थान बाढ की आशंका के इलाकों के रूप में चिन्हित किये गये हैं। तमिलनाडुके राजस्‍व मंत्री आर बी उदयकुमार ने बताया कि संभावित शरणार्थियों के रहने के लिए490 राहत शिविर बनाए गए हैं। चेन्‍नई से जयसिंह की रिपोर्ट के साथ समाचार कक्ष से मैंदीपिका शर्मा।

-----

तूफान के कल केरल पहुंचने की संभावना को देखतेहुए वहां बडे पैमाने पर सतर्कता बरती जा रही है। हमारे संवाददाता के अनुसार मुख्‍यमंत्रीपिनाराई विजयन ने कहा है कि गृहमंत्री अमित शाह ने स्थिति की समीक्षा की है तथा तूफानसे निपटने में राज्‍य को केन्‍द्र की ओर से हर तरह की सहायता का भरोसा दिलाया है।

-----

गृहमंत्री अमित शाह ने तूफान के मद्देनजर तमिलनाडुऔर केरल के मुख्‍यमंत्रियों से बात की और उन्‍हें हरसंभव मदद देने का आश्‍वासन दिया।गृहमंत्री ने बताया कि इन दोनों राज्‍यों में राहत और बचाव कार्य के लिए एनडीआरएफ कीकई टीमें पहले से ही तैनात हैं।

-----

चक्रवाती तूफान को देखते हुए चेन्‍नई स्थित आकाशवाणीका क्षेत्रीय समाचार एकांश विशेष समाचार बुलेटिन प्रसारित कर रहा है। इसे आज रात साढेदस बजे से कल सुबह साढे छह बजे तक हर आधे घंटे पर प्रसारित किया जाएगा। हर बुलेटिनपांच मिनट की अवधि का होगा। इसे आकाशवाणी के एफ एम रेनबो के मदुरै, तिरूनेलवेल्‍लीऔर नागरकोइल केन्‍द्रों के अलावा चेन्‍नई ए प्राइमरी चैनल पर भी सुना जा सकेगा। तूफानके कारण पूरे इलाके में विद्युत आपूर्ति बाधित होने की आशंका को देखते हुए रेडियो समाचारोंकी भूमिका बढ जाती है।

-----

केन्‍द्र शासित प्रदेश जम्‍मू कश्‍मीर में जिलाविकास परिषद   चुनाव तथा पंचायतों के उप चुनावके तीसरे चरण के लिए कल मतदान कराया जाएगा। राज्‍य निर्वाचन आयुक्‍त के के शर्मा नेबताया कि शांतिपूर्ण चुनाव के लिए सभी मतदान केन्‍द्रों पर सुरक्षा के पर्याप्‍त प्रबंधकिए गए हैं।

 

जिला विकास परिषद की 280 सीटों मेंसे 33 सीटों पर मतदान कराया जाएगा। मतदान सुबह सात बजे से दिनमें दो बजे तक कराया जाएगा। इस चरण में 305 उम्‍मीदवार मैदानमें हैं।

-----

अभिनेता रजनीकांत अगले महीने अपनी राजनीतिक पार्टीकी घोषणा करेंगे। उन्होंने कहा कि तमिलनाडु विधानसभा के लिए आगामी चुनाव भ्रष्टाचारमुक्‍त, पारदर्शी और पक्षपात रहित होगा। श्री रजनीकांत ने हाल ही में अपने प्रशंसकोंसे मुलाकात करने के बाद पार्टी गठन की घोषणा की है। तमिलनाडु विधानसभा का चुनाव अगलेवर्ष की पहली छमाही में होना है।

-----

उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथने आज कहा कि राज्‍य सरकार द्वारा ऋण मेलों के आयोजन से सूक्ष्‍म, लघु और मध्‍यमउद्यम क्षेत्र में लगभग 25 लाख रोजगार के अवसर पैदा हुए हैं।उन्‍होंने कहा कि सरकार के प्रयासों से सूक्ष्‍म, लघु और मध्‍यमउद्यम की 15 इकाइयों ने अपने को बॉम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज मेंसूचीबद्ध करा लिया है। ब्‍यौरा हमारे संवाददाता से..


आज के कार्यक्रम में लगभग 30,000 पूर्वस्थापित औद्योगिक इकाइयों को आत्मनिर्भर भारत योजना के तहत 1316 करोड़ रुपए का कर्ज दिया गया वहीं लगभग 9000 करोड़ रुपएसे अधिक का कर्ज 3,24,000 नई एमएसएमई औद्योगिक इकाइयों में वितरितकिया गया। इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उनकी सरकार कोरोना का अखंडके दौरान सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्योग पर ध्यान केंद्रित कर रही है और कर्ज वितरणकार्यक्रमों से औद्योगिक विकास को गति मिली है। उन्होंने कहा कि  इस वित्तीय वर्ष में एक जिला एक उत्पाद योजना केतहत 16000 से अधिक लोगों को प्रशिक्षण दिया गया है उन्होंने इसमौके पर 5000 प्रशिक्षुओं को  वर्चुअल तरीके से टूल किट भी वितरित किए। सुशीलचंद्र तिवारी, आकाशवाणी समाचार, लखनऊ।

-----

महाराष्‍ट्र के कृषि मंत्री ने कहा है कि किसानोंको मिट्टी की उर्वरता की जानकारी देने के लिए राज्‍य की प्रत्‍येक ग्राम पंचायत मेंउर्वरता सूचकांक बोर्ड गठित किया जाना चाहिए। उन्‍होंने कहा कि शनिवार को विश्‍वमृदा दिवस के अवसर पर प्रत्‍येक गांव में एक कार्यशाला आयोजित की जानी चाहिए, ताकि किसानोंको यह जानकारी मिल सके कि उन्‍हें अपनी जमीन पर किस तरह के खाद की जरूरत है। एक रिपोर्ट:-


महाराष्ट्र के कृषि मंत्रीदादाजी भूसे ने जानकारी दी कि राज्य के 38,500 गाँवोंका भूमि उर्वरता सूचकांक तैयार कर कृषि विभाग की वेबसाइट पर पोस्ट किया गया है। इनगांवों का भूमि उर्वरता सूचकांक बनाते समय, प्रत्येक गांव केलिए 4 कारकों पर आधारित 12 अलग-अलग प्रकार के सूचकांक तैयार किए गए हैं। इनमें भौतिक, रासायनिक और जैविक गुण शामिल हैं। उन्होंने कहा कि इन सूचकांकों को हर गांवमें बड़े होर्डिंग पर लगाया जाना चाहिए। ग्राम पंचायत स्तर पर फर्टिलिटी इंडेक्स बोर्डोंकी स्थापना के संबंध में आज मुंबई में मंत्रालय में एक समीक्षा बैठक आयोजित की गई।इस मौके पर कृषि आयुक्त धीरज कुमार और संयुक्त सचिव गणेश पाटिल उपस्थित थे। पिछले पांचवर्षों में राज्य में 57 लाख मृदा नमूनों का परीक्षण किया गयाहै और 2 करोड़ 64 लाख मृदा स्वास्थ्य पत्रकवितरित किए गए हैं। स्‍वीटी जैन, आकाशवाणी समाचार, मुंबई।

-----

आज अंतर्राष्‍ट्रीय दिव्‍यांगजन दिवस है। इसवर्ष की थीम है कोविड के बाद दिव्‍यांगजनों के लिए समावेशी, सुलभ और टिकाऊविश्‍व का निर्माण। आकाशवाणी के साथ विशेष बातचीत में अंतर्राष्‍ट्रीय श्रम संगठन केउपनिदेशक सतोषी सासाकी ने कहा कि यह दिवस दिव्‍यांगजनों की कठिनाईयों को दूर करने केविश्‍व समुदाय के दृढ़ संकल्‍प का दिन है।

-----

उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडूने कहा है कि हमें दिव्यांगजनों के प्रति सहानुभूति और आदर रखना चाहिए। उन्होंने कहाकि हमें यह सुनिश्चित करना चाहिए कि उनके साथ कोई भेदभाव न हो और वे सम्मान जनक जीवनजीने के लिए सशक्त हों।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि दिव्यांगजनोंका सहज भाव और धैर्य हमें प्रेरणा देता है। श्री मोदी ने कहा कि सुगम्‍य भारत अभियानके तहत की गई पहल से हमारे दिव्यांग भाई-बहनों में सकारात्मक बदलाव आया है।

-----

भारतीय रिजर्व बैंक-आरबीआई ने देश के सबसे बड़े निजी बैंक एचडीएफसी से कहा है कि वह नए डिजिटल कारोबारशुरू न करें और क्रेडिट कार्ड के लिए नए ग्राहक न बनाए। बैंक के ग्राहकों से तकनीकीखराबी के बारे में कई बार मिली शिकायत के बाद ऐसा किया गया है। एचडीएफसी बैंक ने बतायाहै कि आरबीआई ने 2दिसम्‍बर को एचडीएफसी प्राइवेट लिमिटेड को एक आदेश जारी किया है।  

-----

भारत और ऑस्‍ट्रेलिया के बीच तीन ट्वेंटी-ट्वेंटी मैचोंकी श्रृंखला का पहला मैच कल कैनबरा में खेला जाएगा।  आकाशवाणी से मैच का आंखों देखा हाल दिन में एक बजकर15 मिनट से प्रसारित किया जाएगा। इसे एफ.एम. रेनबो, राजधानी और प्रसार भारतीके यू-ट्यूब चैनल सहित अन्‍य चैनलों पर सुना जा सकता है। श्रृंखलाके दो अन्‍य मुकाबले 6 और 8 दिसम्‍बर कोसिडनी में खेले जाएंगे।

 

ऑस्‍ट्रेलिया तीन एकदिवसीय क्रिकेट मैचों कीश्रृंखला पहले ही जीत चुकी है। दोनों देश चार टैस्‍ट मैच भी खेलेंगे। पहला टैस्‍ट मैच17 दिसम्‍बर से एडिलेड मे शुरू होगा। 

-----

नमस्‍कार।

-----

Live Twitter Feed

Listen News

Morning News 18 (Jan) Midday News 18 (Jan) Evening News 18 (Jan) Hourly 18 (Jan) (1910hrs)
समाचार प्रभात 18 (Jan) दोपहर समाचार 18 (Jan) समाचार संध्या 18 (Jan) प्रति घंटा समाचार 18 (Jan) (2200hrs)
Khabarnama (Mor) 18 (Jan) Khabrein(Day) 18 (Jan) Khabrein(Eve) 18 (Jan)
Aaj Savere 18 (Jan) Parikrama 18 (Jan)

Listen Programs

Market Mantra 18 (Jan) Samayki 1 (Jan) Sports Scan 18 (Jan) Spotlight/News Analysis 18 (Jan) Employment News 18 (Jan) रोजगार समाचार 17 (Jan) World News 17 (Jan) Samachar Darshan 22 (Mar) Radio Newsreel 21 (Mar)
    Public Speak

    Country wide 12 (Mar) Surkhiyon Mein 18 (Jan) Charcha Ka Vishai Ha 11 (Mar) Vaad-Samvaad 17 (Mar) Money Talk 17 (Mar) Current Affairs 6 (Mar) Sanskrit Saptahiki 16 (Jan) North East Diary 17 (Jan)