A- A A+
Last Updated : Aug 4 2020 2:08PM     Screen Reader Access
News Highlights
Record number of over 6.61 lakh Covid 19 tests conducted in country in single day            12,30,509 people recovered from coronavirus in country so farCovid-19 recovery rate improves to 66.30 per cent            Preparations in full swing in Ayodhya for tomorrow's Bhoomi Poojan for construction of Ram Mandir            Punjab Police apprehend 12 more persons in Hooch tragedy case            UPSC announces Civil Services Examination 2019 results           

Text Bulletins Details


Parikrama

1630 HRS
15.07.2020

RAVI : श्रोताओं शाम के साढ़े चार बजे चुके हैं और ऐआईआर ऍफ़एम गोल्ड पर ये समय है न्यूज़ मैगज़ीन कार्यक्रम परिक्रमा का। जिसमें हम आपके लिए लेकर आते हैं देश-विदेश के नवीनतम समाचार। साथ ही देश भर में मौजूद हमारे संवाददाता अपनी विशेष रिपोर्ट के माध्यम से बताते हैं की देश में क्या कुछ खास चल रहा है। इसके आलावा दृष्टि डालेंगे उन महानुभावों पर जिनकी आज या तो जयंती है या फिर पुण्यतिथि। आज के परिक्रमा के इस अंक के साथ मैं हूँ आपका अपना रवि कपूर और आज मेरे साथ हैं मेरे को होस्ट वी.सी.प्रमोद।

सभी सुनने वालों को मेरा नमस्कार और प्रमोद आपको भी मेरा नमस्कार।

V.C : Thank you Ravi,and a warm welcome to all our listeners tuned in… and also Congratulations toall the students of class 10th who have come out with flying colours in theirexams and also to all students who gave their best even though the marks werenot as they expected.  Rising youthunemployment is one of the most significant problems facing economies andsocieties in today’s world, for developed and developing countries alike.According to a recent survey there are an estimated 267 million unemployedyouth in the world in 2019, and is projected to continue climbing to around 273million in 2021. So lets begin the programme, with the news in hindi withRavi.....

<><><>


NEWS HEADLINES:

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि स्किल यानि कुशल होना, रिस्किल यानि नए कौशल सीखना और अप-स्किल यानि कौशल में सुधार, व्यािपार के माहौल और बाजार की दशाओं में तेजी से हो रहे परिवर्तन के समय प्रासंगिक बने रहने के मंत्र हैं।

विश्व युवा कौशल दिवस के अवसर पर आज वर्चुअल सम्मेलन में श्री मोदी ने यह बात कही। 

"रिलेवन्ट रहने का मंत्र है स्किल, री-स्किल और अप स्किल। स्किल का अर्थ है-आप कोई नया हुनर सीखें। जैसे की आपने लकड़ी के टुकड़े से कुर्सी बनाना सीखा। यह आपका हुनर हुआ। आपने  लकड़ी के उस टुकड़े की कीमत भी बड़ा दी। वैल्यु एडिशन किया। लेकिन ये कीमत बनी रहे इसके लिए नयी डिजाइन, नयी स्टाइल और कुछ नया सीखते रहने का मतलब ही है-रीस्किल और हमारी जो स्किल है उसका और विस्तार करना। जैसे छोटे-मोटे फर्नीचर बनाते-बनाते आप और भी चीजे सीखते जाएं। पूरा का पूरा ऑफिस डिजाइन करने लग गए। तो वो हो गया अप स्किल।"

प्रधानमंत्री ने कहा कि कौशल असीम होते हैं और यह समय के साथ इंसान को बेहतर बनाए रखते हैं तथा लोगों को दूसरों से अलग बनाते हैं। इस वर्चुअल सम्मेलन का आयोजन कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय ने किया था।

प्रधानमंत्री ने कहा कि कौशल केवल आजीविका के लिए बल्कि हमारे दैनिक जीवन में जीवंत और ऊर्जावान बने रहने का एहसास भी दिलाते हैं। श्री मोदी ने कहा कि तेजी से बदलते विश्व में लाखों कुशल लोगों की जरूरत है।

"तेजी से बदलती हुई आज की दुनिया में अऩेक सेक्टरों में लाखों स्किल लोगों की जरूरत है। विशेषकर स्वास्थ्य सेवाओं में तो बहुत बड़ी संभावनाएं बन रही हैं। यहीं समझते हुए अब कौशल विकास मंत्रालय ने दुनिया भर में  बन रहें इन अवसरों की मैपिंग शुरू की है। 

कोशिश यही है कि भारत के युवा को अन्य देशों की जरूरतों के बारे में उसके संबंध में भी सही और सटीकजानकारी मिल सके।"

Referring to  the portal launched recently for mapping theskilled employees and employers, he stated that it will help the skilledworkers, including the migrant workers who have returned to their homes toaccess jobs easily and the employers to contact skilled employees at the clickof a mouse. The Prime Minister said that the Skill India Mission launched fiveyears ago on the same day has led to creation of a vast infrastructure forskilling, reskilling and upskilling and enhancing opportunities to accessemployment both locally and globally. It has led to hundreds of Pradhan MantriKaushal Kendras being set up across the country and increase in the capacity ofthe ITI ecosystem. Due to these concerted efforts, more than five crore youthhave been skilled in the last five years. The Prime Minister said, coronacrisis has changed the nature of job and the work culture. He said, changingtechnology has also influenced it.

"कोरोना के इस संकट में वर्क कल्चर के साथ ही नेचर ऑफ जॉब को भी बदलकर के रख दिया है और बदलती हुई नित्य नूतन टैक्नॉलोजी ने भी उस पर प्रभाव पैदा किया है। ये वर्क कल्चर और नये नेचर ऑफ जॉब को देखते हुए हमारे युवा नयी-