A- A A+
Last Updated : Jul 14 2020 7:59AM     Screen Reader Access
News Highlights
PM Modi interacts with Google CEO Sundar Pichai            Google to invest Rs. 75,000 crore in India over next 5 to 7 years            India, China Corps Commander-level talks to be held today at Chushul            Kerala Gold Smuggling Case: Key accused Swapna Suresh & Sandeep Nair sent to 8-day NIA custody            Central Board of Secondary Education announces result of class 12th examination           

Text Bulletins Details


दोपहर समाचार

1430 HRS
31.05.2020

मुख्‍य समाचार :

  • प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कोविड महामारी के बीच लोगों से अधिक सचेत और सतर्क रहने का आग्रह किया।

  • मन की बात कार्यक्रम में श्री मोदी ने लोगों की सेवा भावना की सराहना करते हुए सेवा को परमधर्म बताया। उन्‍होंने कहा - आयुष्‍मान भारत के लाभार्थियों की संख्‍या एक करोड से अधिक हुई। 

  • प्रधानमंत्री ने देश के पूर्वी क्षेत्र के विकास की आवश्‍यकता पर जोर देते हुए कहा इस क्षेत्र में देश के विकास को गति देने की क्षमता । 

  • चरणबद्ध तरीके से लॉकडाउन हटाने की घोषणा। कोरोना नियंत्रण क्षेत्रों में तीस जून तक पूर्णबंदी रहेगी।

  • कोविड-19 रोगियों के स्‍वस्‍थ होने की दर लगभग 48 प्रतिशत हुई।

  • और अमरीका ने जी-7 शिखर सम्‍मेलन सितंबर तक स्‍थगित किया।

----------

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि कोविड महामारी के बीच अर्थव्‍यवस्‍था का बड़ा हिस्‍सा खोल दिया गया है, लेकिन लोगों को अधिक सचेत और सतर्क रहने होगा। आकाशवाणी से  मन की बात कार्यक्रम में राष्‍ट्र को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि श्रमिक विशेष रेलगाडि़यों और विशेष रेलगाडि़यों समेत कई सेवाएं बहाल कर दी गई हैं। उद्योग भी सामान्‍य स्थिति की ओर लौट रहे हैं।


इस बार बहुत कुछ खुल चुका है। श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चल रही हैं अन्य स्पेशल ट्रेनें भी शुरू हो गई हैं। तमाम सावधानियों के साथ हवाई जहाज उड़ने लगे हैं। धीरे-धीरे उद्योग भी चलना शुरू हुआ है। यानी अर्थव्यवस्था का एक बड़ा हिस्सा अब चल पड़ा है खुल गया है। ऐसे में हमें और ज्यादा सतर्क रहने की आवश्यकता है। दो गज की दूरी का नियम हो, मुंह पर मास्क लगाने की बात हो, हो सके तो वहां तक घर में रहना हो, ये सारी बातों का पालन उसमें जरा भी ढिलाई नहीं बरतनी चाहिए।


श्री मोदी ने कहा कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई देशवासियों के अथक और सामूहिक प्रयासों की परिचायक है। उन्‍होंने कहा कि किस प्रकार देशवासियों ने गंभीर चुनौतियों का सामना किया और कोरोना को उतनी तेजी से फैलने नहीं दिया जितनी तेजी से यह दुनिया के अन्‍य भागों में फैला। प्रधानमंत्री ने कहा कि कोरोना की मृत्‍युदर भारत में बहुत कम है।

प्रधानमंत्री ने लोगों में सेवा की भावना की सराहना करते हुए इसे देश की सबसे बड़ी शक्ति बताया। उन्‍होंने कहा कि सेवा परमो धर्म: में ही जीवन का सुख और संतोष है और ये भारत की जीवन शैली है।


देशवासियों की संकल्पशक्ति के साथ, एक और शक्ति इस लड़ाई में हमारी सबसे बड़ी ताकत है - वो है - देशवासियों की सेवाशक्ति। वास्तव में, इस माहामारी के समय, हम भारतवासियों ने ये दिखा दिया है, कि सेवा और त्याग का हमारा विचार, केवल हमारा आदर्श नहीं है, बल्कि, भारत की जीवनपद्धति है, और हमारे यहाँ तो कहा गया है - सेवा परमो धर्म:। सेवा स्वयं में सुख है, सेवा में ही संतोष है।


श्री मोदी ने कहा कि देश के सभी भागों से महिला स्‍वयं सहायता समूहों के शानदार कार्यों की भी सैंकड़ों गाथाएं सामने आ रही हैं।


महामारी के कारण लोगों के कष्‍टों और समस्‍याओं पर अपनी पीड़ा साझा करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस ने समाज के सभी वर्गों को प्रभावित किया, लेकिन सबसे बड़ी मार गरीब मजदूरों और कामगारों पर पड़ी है। 


उन्‍होंने कहा कि केन्‍द्र, राज्‍य तथा सभी स्‍थानीय निकाय उनकी समस्‍याओं के समाधान के लिए निरंतर प्रयत्‍नशील हैं। प्रधानमंत्री ने लाखों मजदूरों को ट्रेनों और बसों से सकुशल उनके घरों तक ले जाने में दिन-रात लगे कर्मचारियों की सराहना की। उन्‍होंने मजदूरों के लिए हर जिले में भोजन और क्‍वारंटीन की व्‍यवस्‍था कर रहे लोगों की भी प्रशंसा की।


ये दुनिया के हर कोरोना प्रभावित देश में हो रहा है और इसलिए भारत भी इससे अछूता नहीं है। हमारे देश में भी कोई वर्ग ऐसा नहीं है जो कठिनाई में न हो, परेशानी में न हो और इस संकट की सबसे बड़ी चोट अगर किसी पर पड़ी है तो हमारे गरीब, मजदूर, श्रमिक वर्ग पर पड़ी है। उनकी तकलीफ, उनका दर्द और उनकी पीड़ा शब्दों में नहीं कही जा सकती। हममें से कौन ऐसा होगा जो उनकी और उनके परिवार की तकलीफों को अनुभव न कर रहा हो। हम सब मिलकर इस तकलीफ को इस पीड़ा को बांटने का प्रयास कर रहे हैं।


प्रधानमंत्री ने कहा कि मौजूदा परिदृश्‍य हम सब के लिए सबक के साथ-साथ भविष्‍य की नीति तय करने का अवसर भी है। उन्‍होंने कहा कि हमारे श्रमिकों की पीड़ा में हम देश के पूर्वी हिस्‍से की पीड़ा को देख सकते हैं। श्री मोदी ने पूर्वी क्षेत्र के विकास पर जोर देते हुए कहा कि इस क्षेत्र में देश के विकास को रफ्तार देने की क्षमता है। प्रधानमंत्री ने कहा कि पूर्वी क्षेत्र का विकास ही देश के संतुलित आर्थिक विकास की ओर ले जा सकता है।


प्रधानमंत्री ने कहा कि समय की सबसे बड़ी जरूरत यह है कि हम नये समाधान खोजें। उन्‍होंने कहा कि सरकार ने इस दिशा अनेक कदम उठाये हैं। श्री मोदी ने बताया कि केन्‍द्र ने हाल ही में कुछ ऐसे निर्णय लिये है, जिनसे ग्रामीण रोजगार, स्‍व-रोजगार और लघु उद्योगों के लिए नये अवसर खुले हैं। उन्‍होंने आशा व्‍यक्‍त की कि आत्‍मनिर्भर भारत अभियान देश को इस दशक में नई ऊंचाइयों तक ले जाएगा।


तमाम चुनौतियों के बीच मुझे खुशी है कि आत्मनिर्भर भारत पर आज देश में व्यापक मंथन शुरू हुआ है। लोगों ने अब इसे अपना अभियान बनाना शुरू किया है। इस मिशन का नेतृत्व देशवासी अपने हाथ में ले रहे हैं। बहुत से लोगों ने तो यह भी बताया कि उन्होंने जो जो सामान उनके इलाके में बनाये जाते हैं, उनकी एक पूरी लिस्ट बना दी है। ये लोग अब इन लोकल प्रोडेक्ट्स को ही खरीद रहे हैं और वोकल फोर लोकल को प्रमोट भी कर रहे हैं। मेक इन इंडिया को बढ़ावा मिले इसके लिए सब कोई अपना-अपना संकल्प जता रहा है।


श्री मोदी ने कहा कि आयुष्‍मान भारत योजना के लाभार्थियों की संख्‍या एक करोड़ से अधिक हो गई हैं। उन्‍होंने न केवल आयुष्‍मान भारत के लाभार्थियों को, बल्कि इस योजना के अंतर्गत रोगियों का उपचार कर रहे डॉक्‍टरों और नर्सों को भी शुभकामनाएं दीं।


आयुष्मान भारत योजना के साथ एक बहुत बड़ी विशेषता पोर्टिबिलिटी की सुविधा भी है। पोर्टिबिलिटी ने देश को एकता के रंग में रंगने में भी मदद की है। यानी बिहार का कोई गरीब अगर चाहे तो उसे कर्नाटक में भी वही सुविधा मिलेगी जो उसे अपने राज्य में मिलती है। इसी तरह महाराष्ट्र का कोई गरीब चाहे तो इलाज की वही सुविधा तमिलनाडु में मिलेगी। इस योजना के कारण किसी क्षेत्र में जहां स्वास्थ्य की व्यवस्था कमजोर है वहां के गरीब को देश के किसी भी कोने में उत्तम इलाज कराने की सहूलियत मिलती है।


प्रधानमंत्री ने कहा कि कोरोना महामारी के मौजूदा समय में लोग, योग पर गंभीरता से ध्‍यान दे रहे हैं। हरेक जगह लोग योग और आयुर्वेद के बारे में लोग अधिक से अधिक जानना चाहते हैं और इन्‍हें अपनी जीवन शैली में अपनाना चाहते हैं।


अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस जल्द ही आने वाला है। योग जैसे जैसे लोगों के जीवन से जुड़ रहा है, लोगों में अपने स्वास्थ्य को लेकर जागरूकता भी लगातार बढ़ रही है। अभी कोरोना संकट के दौरान भी देखा जा रहा है कि हॉलीवुड से हरिद्वार तक घर में रहते हुए लोग योग पर बहुत गंभीरता से ध्यान दे रहे हैं। हर जगह लोगों ने योग और उसके साथ साथ आयुर्वेद के बारे में और ज्यादा जानना चाहा उसे अपनाना चाहा। कितने ही लोग जिन्होंने कभी योग नहीं किया, वे भी या तो ऑन लाइन योग टास्क से जुड़ गये हैं या फिर ऑन लाइन वीडियो के माध्यम से भी योग सीख रहे हैं। सही में योग कम्युनिटी, इम्यूनिटी और यूनिटी सब के लिए अच्छा है।


प्रधानमंत्री ने हाल के चक्रवाती तूफान का साहस और बहादुरी से सामना करने के लिए पश्चिम बंगाल और ओडिसा के लोगों की प्रशंसा की। उन्‍होंने कहा कि ओडिसा और पश्चिम बंगाल के लोगों ने जिस धैर्य और संकल्‍प से इस आपदा का सामना किया वह बहुत ही सराहनीय है।


श्री मोदी ने कहा देश के कई भागों में टिड्डी दलों का प्रकोप फैला हुआ है। उन्‍होंने कहा कि केंद्र, राज्‍य सरकारें, कृषि विभाग और प्रशासन, सभी इस बात का प्रयास कर रहे हैं कि फसलों को इसके प्रकोप से बचाया जाए।


एक तरफ़ जहाँ पूर्वी भारत तूफान से आयी आपदा का सामना कर रहा है, वहीँ दूसरी तरफ़, देश के कई हिस्से टिड्डियों या locust के हमले से प्रभावित हुए हैं। इन हमलों ने फिर हमें याद दिलाया है कि ये छोटा सा जीव कितना नुकसान करता है। टिड्डी दल का हमला कई दिनों तक चलता है, बहुत बड़े क्षेत्र पर इसका प्रभाव पड़ता है। भारत सरकार हो, राज्य सरकार हो, कृषि विभाग हो, प्रशासन भी इस संकट के नुकसान से बचने के लिए, किसानों की मदद करने के लिए, आधुनिक संसाधनों का भी उपयोग कर रहा है। नए-नए आविष्कार की तरफ़ भी ध्यान दे रहा है, और मुझे विश्वास है कि हम सब मिलकर के हमारे कृषि क्षेत्र पर ये जो संकट आया है, उससे भी लोहा लेंगे, बहुत कुछ बचा लेंगे।


प्रधानमंत्री ने कहा कि समूचा विश्‍व 5 जून को विश्‍व पर्यावरण दिवस मनाएगा और इस साल के विश्‍व पर्यावरण दिवस का मुख्‍य विषय जैव विविधता है।


वर्तमान परिस्थितियों में यह theme विशेष रूप से महत्वपूर्ण है I  LOCKDOWN के दौरान पिछले कुछ हफ़्तों में जीवन की रफ़्तार थोड़ी धीमी जरुर हुई है, लेकिन इससे हमें अपने आसपास, प्रकृति की समृद्ध विविधता को, जैव-विविधता को, करीब से देखने का अवसर भी मिला है I मेरी तरह आपने भी social media में ज़रूर इन बातों को देखा होगा, पढ़ा होगा। इन तस्वीरों को देखकर, कई लोगों के मन में ये संकल्प उठा होगा क्या हम उन दृश्यों को ऐसे ही बनाए रख सकते हैं I इन तस्वीरों नें लोगों को प्रकृति के लिए कुछ करने की प्रेरणा भी दी है I नदियां सदा स्वच्छ रहें, पशु-पक्षियों को भी खुलकर जीने का हक़ मिले, आसमान भी साफ़-सुथरा हो, इसके लिए हम प्रकृति के साथ तालमेल बिठाकर जीवन जीने की प्रेरणा ले सकते हैं I


श्री मोदी ने कहा कि पानी को बचाने की जिम्‍मेदारी भी हम सबकी है। उन्‍होंने देशवासियों से आग्रह किया कि वे  पर्यावरण दिवस के अवसर पर पौधें रोपें और प्रकृति के साथ अपने संबंध सुदृढ करें।


हम बार-बार सुनते हैंजल है तो जीवन है - जल है तो कल है’, लेकिन, जल के साथ हमारी जिम्मेवारी भी है। वर्षा का पानी, बारिश का पानी - ये हमें बचाना है। गाँव-गाँव वर्षा के पानी को हम कैसे बचाएँ? परंपरागत बहुत सरल उपाय है, उन सरल उपाय से भी हम पानी को रोक सकते हैंI पाँच दिन-सात दिन भी अगर पानी रुका रहेगा तो धरती माँ की प्यास बुझाएगा, पानी फिर जमीन में जायेगा, वही जल, जीवन की शक्ति बन जायेगा और इसलिए, इस वर्षा ऋतु में, हम सब का प्रयास रहना चाहिए कि हम पानी को संरक्षित करें।


----------

केन्‍द्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने आज 'मन की बात' कार्यक्रम में पानी की हर एक बूंद को बचाने के महत्‍व पर जोर दिया। एक ट्वीट संदेश में श्री जावड़ेकर ने कहा कि प्रधानमंत्री ने वृक्षारोपण, देश की समृद्ध जैव विविधता और प्रकृति के साथ सामंजस्‍य से जीने पर भी बात की।


----------

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की पहल पर भारत  सरकार ने प्रधानमंत्री जन आरोग्‍य योजना (पीएमजेएवाई) के नाम से स्‍वास्‍थ्‍य बीमा योजना लागू की है, जिसे आमतौर पर आयुष्‍मान भारत कहा जाता है। प्रधानमंत्री ने आज मन की बात में मणिपुर के छह साल के एक बालक का उल्‍लेख किया, जिसका इम्‍फाल के आरआईएमएस अस्‍पताल में हाइड्रोसेफलस रोग का उपचार हो रहा है। इस उपचार का खर्चा आयुष्‍मान भारत योजना के तहत किया जा रहा है।


केलिन्‍सांग नाम के इस बालक के माता-पिता दिहाड़ी मजदूर है और मणिपुर के पर्वतीय जिले चुराचांदपुर के रहने वाले हैं। 


केलिन्‍सांग की बड़ी बहन किम ने कहा कि वे भारत सरकार और विशेष रूप से प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की इस योजना से बहुत खुश है।


----------

सरकार ने कल से राष्‍ट्रव्यापी पूर्णबंदी खोलने के पहले चरण की घोषणा कर दी है। पूर्णबंदी का चौथा चरण आज समाप्‍त हो रहा है। राज्‍यों और केन्‍द्रशासित प्रदेशों में निर्धारित नियंत्रण क्षेत्र को छोड़कर देश के अन्य क्षेत्रों में कल से पूर्णबंदी खोलने का पहला चरण शुरु होगा। ग्रीन और ओरेंज जोन में सुबह पांच बजे से रात नौ बजे तक कुछ गतिविधियों को छोड़कर सभी गतिविधियों की अनुमति होगी। शेष गति‍विधियां 8 जून से चरणबद्ध ढंग से खोली जाएंगी।


केंद्र सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुसार नागरिकों द्वारा अंतर-राज्यीय और राज्य के अंदर सामान्य नागरिक परिचालन के लिए कल से कोई अलग अनुमति या परमिट लेने की आवश्यकता नहीं होगी। आठ जून से मंदिरों और अन्य धार्मिक स्थलों के द्वार श्रद्धालुओं के लिए खोलने की घोषणा भी कर दी गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा तय मानक संचालन प्रक्रियाओं के अनुसार 75 दिनों के बाद होटल, रेस्टोरेंट, आतिथ्य सेवाएं और शॉपिंग मॉल भी आठ जून से आगंतूकों से जीवंत हो उठेंगे। स्कूल, कॉलेज, कोचिंग संस्थान सहित शैक्षणिक संस्थान तीस जून तक बंद रहेंगे और उनके पुन: खुलने पर निर्णय सभी हितधारकों के परामर्श के बाद ही लिया जाएगा। अंतरराष्ट्रीय विमान सेवा, मेट्रो रेल, सिनेमा हॉल, जिनमेजियम, स्वीमिग पूल, मनोरंजन पार्क, थियेटर, बार, ऑडिटोरियम और धार्मिक सहित अन्य सभी बड़ी सभाएं देशभर में अग्रिम आदेश तक निषिद्ध रहेंगे। हालांकि केंद्र द्वारा दिए गए दिशा-निर्देश से इतर राज्य सरकारें अपनी मूल्यांकन के अनुसार कोरोना के रोकथाम के लिए अन्य अतिरिक्त प्रतिबंध लगा सकती हैं। आनंद चतुर्वेदी, आकाशवाणी समाचार, दिल्ली।


----------

नागरिक उडड्यन महानिदेशालय ने कहा है कि निर्धारित अन्तरराष्ट्रीय वाणिज्यिक उड़ानें 30 जून की मध्यरात्रि तक निलंबित रहेंगी। कोविड-19 की रोकथाम के लिए राष्ट्रव्यापी पूर्णबंदी को लेकर गृह-मंत्रालय के नए दिशा-निर्देशों के बाद यह घोषणा की गई है। महानिदेशालय ने कहा कि विदेशी विमानन कंपनियों को भारत  उड़ानों का संचालन शुरू करने के बारे में समय पर सूचित किया जाएगा।


इससे पहले, देश में घरेलू विमान सेवाएं सोमवार से फिर शुरू कर दी गईं।


----------

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घोषणा की है कि राज्य में 15 जून तक लॉकडाउन जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि समूचे राज्य को एक साथ नहीं खोला जाएगा।


मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से 26 हजार मीट्रिक टन गेहूं और चावल लोगों के घरों तक पहुंचाया है।


----------

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने राज्य में लॉकडाउन चार सप्ताह बढ़ाकर 30 जून तक करने की घोषणा की है। इस दौरान केंद्र सरकार के दिशानिर्देशों के अनुसार कुछ और रियायतें दी जाएंगी।


पश्चिम बंगाल सरकार ने भी 15 जून तक लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा की है। इस दौरान कुछ अतिरिक्‍त छूट दी जाएगी।


----------

उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कहा है कि राज्‍य में लॉकडाउन के पांचवें चरण के दौरान कई क्षेत्रों रियायतें दी जाएंगी। आज लखनऊ में वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिये मीडिया को संबोधित करते हुए उन्‍होंने कहा कि राज्‍य में ज्‍यादातर औद्योगिक, आर्थिक और वित्‍तीय गतिविधियां पहले ही शुरू हो गई हैं। मुख्‍यमंत्री ने कहा कि अन्‍य गतिविधियां भी चरणबद्ध तरीके से फिर से चालू कर दी जाएंगी।


श्री आदित्‍यनाथ ने कहा कि कोरोना के पाबंदी वाले इलाकों में लॉकडाउन के नियमों का सख्‍ती से पालन किया जाता रहेगा।


----------

स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय ने कहा है कि देश में कोरोना महामारी से पीडित 86 हजार 9 सौ 84 लोग इलाज के बाद स्‍वस्‍थ हुए हैं और ठीक होने की दर 47 दशमवल सात-पांच प्रतिशत पहुंच गई है।


पिछले 24 घंटों में 4 हजार 6 सौ 14 लोग स्‍वस्‍थ हुए हैं और 8 हजार 3 सौ 80 नये मामले भी सामने आए हैं। यह एक ही दिन में संक्रमित हुए लोगों की अब तक की सबसे अधिक संख्‍या है। देशभर में कोरोना वायरस से अब तक संक्रमित लोगों की कुल संख्‍या एक लाख 82 हजार 1 सौ 43 हो गई है। पिछले 24 घंटों में एक सौ 93 मौत हुई हैं और अब तक इस बीमारी से मरने वालों की संख्‍या 5 हजार एक सौ 64 हो गई है।


----------

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद-आईसीएमआर ने कहा है कि पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के कुल एक लाख 25 हजार 4 सौ 28 नमूनों का परीक्षण किया गया। इस तरह देश भर में अब तक इस महामारी के 37 लाख 37 हजार 27 नमूनों की जांच की जा चुकी है।


----------

गुजरात में पिछले 24 घंटे में कोविड-19 से और 27 लोगों की मृत्‍यु हुई है। उसके साथ ही राज्‍य में इस महामारी से अब तक एक हजार से अधिक लोग जान गवां चुके हैं। स्‍वास्‍थ्‍य विभाग ने बताया कि राज्‍य में 412 और लोगों में कोरोना का संक्रमण पाया गया। इसके साथ ही अब राज्‍य में संक्रमित लोगों की संख्‍या बढ़कर 16 हजार 356 हो गई हैं। हमारे अहमदाबाद संवाददाता ने अधिकारिक सूत्रों के हवाले से बताया है कि इस समय 6 हजार 119 लोगों का उपचार चल रहा हैं, जिनमें 6 हजार 57 लोगों की स्थिति स्थिर बनी हुई हैं, जबकि 62 रोगियों को वेंटिलेटर पर रखा गया हैं।


कोविड-19 रोगियों के अच्छे होने की दर लगातार बढ़ रही है। 47 दशमलव चार शून्य फीसदी की राष्ट्रीय औसत के मुकाबले गुजरात में मरीजों के अच्छे होने की दर 56 दशमलव चार तीन फीसदी तक पहुंच गई है। कल अस्पतालों से 621 रोगियों को छुट्टी दी गई। जिसके साथ ही छुट्टी पाने वाले रोगियों की कुल संख्या 9230 तक पहुंच गई है। इस बीच समाज के लिए उदाहरण स्थापित करने के हेतु से अहमदाबाद में कई लोगों द्वारा कोरोना योद्धाओं को पुरस्कृत किया जा रहा है। इंडियन ऑयल पेट्रोल पम्प के श्री अजय जानी, मेडिकल और पेरा-मेडिकल स्टॉफ सहित सभी कोरोना वॉरियस को पेट्रोल डीजल की खरीद में प्रति लीटर दो रुपये की नकद छूट दे रहे हैं।


"अहमदाबाद शहर में हमारे दो पेट्रोल पम्प हैं उनके माध्यम से हमने हरेक कोरोना वॉरियर को प्रति लीटर दो रुपया कम लेकर  डीजल और पेट्रोल देना आरम्भ कर दिया है। करीबन 50 दिन से ये सेवा कार्यरत है। परप्रांती कामगार जो सैंकड़ों की तादाद में अपने वतन में जा रहे थे हमने उनको समझाया और बताया कि हम आपको हर महीने वेतन देंगे, राशन देंगे, दवाई देंगे, जरूरत पड़ने पर हम आपको किराये का घर भी दिलायेंगे। लेकिन आपको इसी समय अपने वतन, अपने गांव में जाने की जरूरत नहीं है।


योगेश पांडेया आकाशवाणी समाचार अहमदाबाद


----------

दिल्‍ली में पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस से संक्रमित 163 नये मरीजों का पता लगा है जिससे कोविड महामारी से संक्रमित लोगों की कुल संख्‍या बढ़कर 18 हजार 549 हो गई हैं। किसी एक दिन में संक्रमण के नये मामलों की यह सबसे बड़ी संख्‍या है। दिल्‍ली सरकार ने बताया है कि अब तक 8 हजार 75 लोग संक्रमण से ठीक हुए हैं और लोगों के ठीक होने की दर 43 दशमलव पांच-तीन प्रतिशत हो गई है।


दिल्‍ली में अब तक कुल 416 लोगों की कोरोना वायरस महामारी से मृत्‍यु हो चुकी है।


----------

महाराष्‍ट्र के चिकित्‍सा शिक्षा मंत्री अमित विलासराव देशमुख ने कहा है कि मुंबई में कोरोना महामारी से पीडित लोगों के इलाज के लिए डॉक्‍टरों और नर्सों को मानदेय आधार पर रखा जाएगा। उन्‍होंने कहा कि ऐसे पंजीकृत डॉक्‍टर जो शारीरिक रूप से स्‍वस्‍थ हैं और 45 वर्ष से कम उम्र के हैं, उन्‍हें काम पर रखा जाएगा। इस तरह के डॉक्‍टरों को हर महीने 80 हजार रुपये दिए जाएंगे। डाक्‍टरों की ही तरह नर्सों को भी मानदेय पर काम पर रखा जाएगा। इस बीच, महाराष्‍ट्र के नाशिक जिले का एक किसान ऐ कोविड योद्धा के रूप में उभर कर सामने आया है जिसने अपने ट्रैक्‍टर की मदद से पूरे गांव को सैनिटाइज किया।


----------

आकाशवाणी से विशेषज्ञों की सलाह के तहत कोविड-19 के बारे में जाने-माने चिकित्‍सा विशेषज्ञों की राय प्रसारित की जाती है।


अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में फेफड़ा रोग विभाग के अध्‍यक्ष डॉक्‍टर अनंत मोहन ने लोगों को सलाह दी है कि हाइड्रोक्सीक्‍लोरोक्‍वि‍न या अन्‍य किसी मलेरिया प्रतिरोधक दवा का सेवन डॉक्‍टर के परामर्श के बिना न करे।


नई दिल्‍ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान की ही वरिष्‍ठ नर्सिंग अधिकारी जेसिंता गुंजियाल ने कोरोना महामारी से बचाव के लिए किसी के साथ सपर्क करते समय एक दूसरे से पर्याप्‍त दूरी बनाये रखने पर जोर दिया।


----------

आकाशवाणी का समाचार सेवा प्रभाग आज फोन इन कार्यक्रम में कोविड-19 पर विशेष परिचर्चा प्रसारित करेगा।


भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद के महामारी और संचारी रोग विज्ञान विभाग के प्रधान वैज्ञानिक डॉक्टर रमन आर. गंगाखेरकर परिचर्चा में भाग लेंगे।


श्रोता 0 1 1 2 3 3 1 4 4 4 4 पर फोन करके विशेषज्ञ से सवाल पूछ सकते हैं। कार्यक्रम रात नौ बजकर 30 मिनट से एफएम गोल्‍ड चैनल और अतिरिक्‍त मीटरों पर सुना जा सकता है। 


----------

जानी माने फिल्‍म अभिनेता सलमान खान ने लोगों से सुरक्षित दूरी के नियमों का पालन करने और कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए सभी जरूरी सावधानी बरतने की अपील की है।


ये जो गवर्नमेंट है ये आपके लिए और हमारे लिए हम सब के लिए बोल रही है। तो इसको सीरियसली लो अफवाहें मत फैलाओ। ये हमेशा से एक प्रॉब्लम है कि सबको ऐसा लगता है कि ये हमारे साथ नहीं होगा। ये कोरोना वायरस किसी को भी हो सकता है। बस में, ट्रेन में, मार्केट में, हर जगह पब्लिक हॉलिडे नहीं है भाई। ये बड़ा सीरियस मामला है ये सब बंद करो, मास्क पहनो, प्रोटेक्ट करो अपने आप को। हाथ धोओ, साफ सुथरे रहो, लोगों से दूर रहो, ये सब करने में क्या दिक्कत है आपको।


----------

दिल्ली के उप-राज्‍यपाल अनिल बैजल ने कहा है कि राजधानी में कोविड-19 के फैलाव को रोकने के लिए केंद्र सरकार के निर्देशों के अनुसार पाबंदी वाले इलाकों में नियमों का कडाई से पालन किया जाना चाहिए। श्री बैजल ने आज दिल्‍ली में महामारी की वर्तमान स्थिति के बारे में दिल्‍ली के मुख्‍य सचिव के साथ बैठक की।


----------

विदेश मंत्रालय वंदे भारत मिशन के अंतर्गत देशभर में भारतीय उच्‍चायोगों और दूतावासों के प्रयासों में तालमेल कायम कर रहा है। अब तक करीब 40 हजार भारतीयों को 2 सौ 30 से अधिक उडानों और समुद्री जहाजों से स्‍वदेश लाया गया है। इसके अलावा, एक सौ 54 देशों को कोविड-19 महामारी से संबंधित चिकित्‍सा सहायता भी भेजी गई है और त्‍वरित कार्रवाई दल तैनात किए गए हैं।


प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कोविड महामारी के बारे में दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन-सार्क के नेताओं के साथ वीडियो कान्‍फ्रेंस की जिसके परिणाम स्‍वरूप कोविड-19 आपात कोष का गठन किया जा सका।


----------

वंदे भारत मिशन के तहत आज खाड़ी देशों से 2 हजार 200 से अधिक भारतीय नागरिकों को विशेष उड़ानों से स्‍वदेश लाया जाएगा। इनमें से आठ उड़ानें संयुक्‍त अरब अमारात से  हैं। छह उड़ानें दुबई से कोच्चि, कोन्‍नूर, कोजिकोड, तिरुअनंतपुरम, हैदराबाद और अहमदाबाद के लिए निर्धारित हैं। दो विमान अबू धाबी से कोजिकोड और तिरुअनंतपुरम आएंगे।


----------

विदेशों में फंसे भारतीय नागरिकों को वापस लाने के समुद्र सेतु अभियान का अगला चरण कल से शुरू होगा। इस चरण में आईएनएस-जलाश्व श्रीलंका के कोलंबो से 700 लोगों को लेकर तमिलनाडु में तूतिकोरिन आएगा। इसके बाद अन्य सात सौ लोगों को माले से तूतिकोरिन लाया जाएगा।


भारतीय नौसेना के समुद्र सेतु अभियान के तहत पिछले चरण में एक हजार चार सौ 88 भारतीय स्वदेश लौटे हैं।


समुद्र सेतु अभियान विदेश-मंत्रालय, गृह-मंत्रालय, स्वास्थ्य मंत्रालय तथा केन्द्र और राज्य सरकारों की विभिन्न एजेंसियो के निकट समन्वय से चलाया जा रहा है। 


----------

अमरीका के राष्‍ट्रपति डॉनल्‍ड ट्रंप ने विकसित देशों के समूह जी-7 की बैठक स्‍थगित करने की घोषणा करते हुए समूह की सदस्‍यता का विस्‍तार किए जाने की अपील की है। उन्‍होंने कहा कि इस संगठन में भारत, रूस ऑस्‍ट्रेलिया और दक्षिण कोरिया को शामिल किया जा सकता है। श्री ट्रंप ने संवादाताओं से कहा कि अभी इसके लिए कोई अंतिम तारीख तय नहीं की गई है लेकिन बैठक सितंबर में संयुक्‍त राष्‍ट्र के वार्षिक सम्‍मेलन के आसपास हो सकती है। दुनिया की प्रमुख आर्थिक शक्तियों की बैठक अमरीका में जून में होनी थी। श्री ट्रंप ने कहा कि जी-7 समूह का स्‍वरूप पुराना पड़ चुका है और यह विश्‍व की मौजूदा वास्‍तविकता का प्रतिनिधित्‍व करने वाली संस्‍था नहीं रह गई है।


फिलहाल जी-7 के सदस्‍य देशों में अमरीका, कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इटली, जापान और ब्रिटेन शामिल हैं। 


----------

मध्‍यप्रदेश और महाराष्‍ट्र में टिड्डी दल के हमले के बाद कल रात ये छत्‍तीसगढ़ पहुंच गया। एक रिपोर्ट--


छत्तीसगढ़ सरकार ने टिड्डी दल के प्रकोप से फसलों को बचाने के लिए सभी जिला कलेक्टरों को आवश्यक उपाय करने के निर्देश दिए हैं । सीमावर्ती जिलों में टिड्डी दल के  आगमन के साथ ही  उनके  उड़ान भरने  की दिशा के बारे में लगातार  निगरानी  रखने के भी निर्देश दिए गए हैं। राज्य शासन ने एक कंट्रोल रूम स्थापित करने के साथ ही किसानों के लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया है। साथ ही कृषि विभाग को पर्याप्त मात्रा में कीटनाशक दवाइयों की व्यवस्था करने के लिए कहा गया है। आकाशवाणी समाचार के लिए रायपुर से मैं विकल्प शुक्ला।


----------

भारतीय सेना ने कहा है कि देश की उत्‍तरी सीमा पर हुई एक घटना को लेकर सोशल मीडिया पर प्रदर्शित किये जा रहे वीडियो की सामग्री प्रमाणिक नहीं है। सेना ने कहा है कि इसे उत्‍तरी सीमा की स्थिति से जोडने का प्रयास दुर्भावनापूर्ण है और इस समय वहां कोई हिंसा नहीं हो रही है।


----------

मौसम


और अब एक नजर आज के मौसम पर--


दिल्ली में आज न्यूनतम तापमान 20 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस के आस-पास रहने की उम्मीद है। राष्‍ट्रीय राजधानी में आसमान में बादल छाये रहने, हल्‍की बारिश या बौछारें पड़ने की सम्‍भावना है।


मुंबई में आंशिक रूप से बादल छाये रहेंगे। महानगर में न्यूनतम तापमान 29 और अधिकतम 35 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने का अनुमान है।


उधर, दक्षिण में चेन्नई में आंशिक रूप से बादल छाए रहेंगे। तापमान 29 और 39 डिग्री सेल्सियस के बीच रह सकता है।


कोलकाता में आमतौर पर बादल छाए रह सकते हैं। एक दो बार वर्षा या गरज के साथ फुहारें पड़ने का भी अनुमान हैं।  तापमान 24 से 29 डिग्री सेल्सियस के बीच रह सकता है। उत्‍तर की ओर चले तो केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर के जम्मू में न्यूनतम तापमान 23 और अधिकतम लगभग 32 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है। जम्मू में गरज के साथ वर्षा होने का अनुमान है। श्रीनगर में न्यूनतम तापमान 13 और अधिकतम तापमान ल्रगभग 20 डिग्री सेल्सियस रह सकता है। शहर में गरज के साथ वर्षा होने का भी अनुमान है।  गिलगित में न्यूनतम तापमान 15 और अधिकतम 23 डिग्री सेल्सियस के आस-पास रह सकता है। इलाके में गरज  के साथ बारिश हो सकती है।  मुजफ्फराबाद में आमतौर पर आंशिक बादल छाए रहेंगे।  धूल भरी आंधी चलने या गरज के साथ वर्षा का भी अनुमान है। न्यूनतम तापमान 16, जबकि अधिकतम 22 डिग्री सेल्सियस रह सकता है। समाचार कक्ष से मैं नईम अख़तर।


----------

Live Twitter Feed

Listen News

Morning News 13 (Jul) Midday News 13 (Jul) Evening News 13 (Jul) Hourly 14 (Jul) (0610hrs)
समाचार प्रभात 13 (Jul) दोपहर समाचार 13 (Jul) समाचार संध्या 13 (Jul) प्रति घंटा समाचार 14 (Jul) (0600hrs)
Khabarnama (Mor) 13 (Jul) Khabrein(Day) 13 (Jul) Khabrein(Eve) 13 (Jul)
Aaj Savere 13 (Jul) Parikrama 13 (Jul)

Listen Programs

Market Mantra 13 (Jul) Samayki 13 (Jul) Sports Scan 23 (Mar) Spotlight/News Analysis 13 (Jul) Samachar Darshan 22 (Mar) Radio Newsreel 21 (Mar)
    Public Speak

    Country wide 12 (Mar) Surkhiyon Mein 13 (Jul) Charcha Ka Vishai Ha 11 (Mar) Vaad-Samvaad 17 (Mar) Money Talk 17 (Mar) Current Affairs 6 (Mar) Sanskrit Saptahiki 12 (Jul)
  • Money Matters 22 (Mar)
  • International News 22 (Mar)
  • Press Review 23 (Mar)
  • From the States 23 (Mar)
  • Let's Connect 22 (Mar)
  • 360°- Ek Parivesh 23 (Mar)
  • Know Your Constitution 30 (Jan)
  • Ek Bharat Shreshta Bharat 22 (Mar)
  • Sanskriti Darshan 23 (Mar)
  • Fit India New India 23 (Mar)
  • Weather Report 21 (Mar)
  • North East Diaries 22 (Mar)
  • 150 Years of Bapu 22 (Mar)
  • Sector Specific Discussions 22 (Mar)